डेंगू बुखार अन्य बुखार से अलग होता है. इसकी पीड़ा भी अधिक होती हैं. एक खास प्रजाति का मच्छर डेंगू का कारन होता है, जो एक मादा मच्छर के काटने से होता है. 

कई बार एक व्यक्ति को डेंगू होने के कुछ समय बाद फिर से डेंगू बुखार हो जाता है और इसी तरह किसी भी व्यक्ति को जीवन में चार बार डेंगू संक्रमण हो सकता है.

डेंगू कैसे होता है?

डेंगू एडीज एजिप्टी के मादा मच्छर के काटने से होता है. DENgee नामक वायरस के कारण डेंगू फैलाता है और डेंगू बुखार हो जाता है.

1. यह गंदे पानी और जमे हुए पानी में पनपते हैं इसलिए घर के आस-पास या घर के भीतर पानी को जमा ना होने दें, गमले या जहां पर पानी जमा हो सके उन जगहों को साफ रखें।

2. डेंगू मच्छर के काटने से मानव शरीर में आते हैं, और इसके साथ अगर किसी को डेंगू है तो, उस मानव शरीर से मच्छर में भी जा सकते हैं. 3. कई बार एक गर्भवती महिला से उनके होने वाले बच्चे पर भी यह फैल सकता है. इसलिए गर्भवती महिलाएं इससे सावधान रहें।

डेंगू के लक्षण 

· रोगी को 104 डिग्री फारेनहाइट बुखार आ सकता है. · सर, मांसपेशियां और पूरे बदन में भयानक दर्द महसूस होता है. · हाथ पैरों में सूजन जोड़ों में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती है. · उल्टी आना, जी मिचलाना जैसी समस्याएं भी देखने को मिलता है.

डेंगू के लक्षण 

· थकान, सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्याएं होती है. · पेट में दर्द और उल्टी करने पर कई बार खून भी आ सकता है. · इसके साथ तेजी से बुखार आना और हाथ पैर सुन्न होने की समस्या हो सकता है.

डेंग का जांच

डेंगू का जांच ब्लड टेस्ट के जरिए इसके बारे में पता किया जा सकता है.

डेंगू के इलाज

डेंगू के इलाज के लिए आपको डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए क्योंकि इससे कई लोगों की मृत्यु हो जाती है इसके साथ कई बार कुछ घरेलू इलाज भी कर सकते हैं.

डेंगू के लिए कोई विशेष इलाज देखने को नहीं मिलता. आपकी बुखार और अन्य समस्याओं को नियंत्रण करने के लिए दवाई दिया जाता है जिसने पेरासिटामोल का उपयोग अधिक देखा जाता है और इसके साथ अन्य दवाइयां भी शामिल होता है.

आप आयुर्वेदिक दवाइयां भी ले सकते हैं आयुर्वेद में भी डेंगू के लिए अच्छी दवाइयां उपलब्ध है.

घरेलू इलाज

घरेलू इलाज में आप हल्दी वाला दूध ले सकते हैं. इसके साथ आप तुलसी, अदरक, हनी, और काली मिर्च का चाय भी ले सकते हैं, दिन में दो या तीन बार. इसके साथ कुछ समय अंतर में आप पानी जरूर पीते रहे, नही तो डीहायड्रेसन हो सकता है।

बाहर के खाने का उपयोग ना करें ज्यादा मसालेदार खाने का उपयोग भी ना करें। समस्या ज्यादा होने पर डॉक्टर के पास जरूर जाएं।